क्या होता…?

image

क्या होता गर ये दुनिया थोडा सोच भी लेती
गिरते हुए ऑसुओं को बहने से रोक भी लेती
नसीहतें और बातें करने की है सबको समझ
क्या हो जाता गर ये दुनिया सच में थोड़ा समझ भी लेती

मोल नहीं उन रातों का जो मैंने जाग के काटी
कोई तोल नहीं उन साँसों का जो मैंने औरों को दे ड़ाली

सही,गलत के झूठे किस्से
झूठे नियम,पोले कायदे

क्या होता गर ये दुनिया,अपनी आँखें थोड़ा खोल भी लेती
बेमानी और छोटी बातों से आगे बढ़कर थोड़ा बड़ा कुछ सोच भी लेती
पिंजड़े में बंद सोई सोच है सबकी
काश कभी वो पंख फैलाकर खुले आसमान में उड़ भी लेती

Advertisements

24 thoughts on “क्या होता…?

  1. Bahut sunder aur behtahreen jajbaat hein aapke;aap sa kuch ye duniya soch leti to kya hota…….dear my words !! d world is so much cruel for soft hearted person.world knows only to take bt not to give a little bit.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s